कम्प्यूटर पर अनचाहे अनुप्रयोगों को स्थापित होने से रोकें

कम्प्यूटर पर अनचाहे अनुप्रयोगों को स्थापित होने से रोकें 7
Ankur Guptahttps://antarjaal.in
पेशे से वेब डेवेलपर, पिछले १० से अधिक वर्षों का वेबसाइटें और वेब एप्लिकेशनों के निर्माण का अनुभव। वर्तमान में ईपेपर सीएमएस क्लाउड (सॉफ्टवेयर एज सर्विस आधारित उत्पाद) का विकास और संचालन कर रहे हैं। कम्प्यूटर और तकनीक के विषय में खास रुचि। लम्बे समय तक ब्लॉगर प्लेटफॉर्म पर लिखते रहे. फिर अपना खुद का पोर्टल आरम्भ किया जो की अन्तर्जाल डॉट इन के रूप में आपके सामने है.

मुफ्त के अनुप्रयोग किसे अच्छे नही लगते। मुफ्त में है तो बढ़िया है। लेकिन कभी आपने सोचा है कि जो लोग आपको मुफ्त के अनुप्रयोग दे रहे हैं वे पैसा कैसे कमाते होंगे???
अनुप्रयोग मुफ्त में देने के बाद भी उनके पास पैसे कमाने के हजार तरीके होते हैं। उदाहरण के लिए वे किसी और कंपनी का कोई सॉफ्टवेयर अपने सॉफ्टवेयर के साथ चिपका कर दे देते हैं। जिससे वह अन्य कंपनी मुफ्त सॉफ्टवेयर देने वाली कंपनी को पैसा दे देती है। लेकिन ऐसा होने से आपके कम्प्यूटर में कई अनचाहे अनुप्रयोग स्थापित हो जाते हैं। तो आइए देखें कि इस कचरे से कैसे बचें और इसे कैसे हटाएं।

१. डाउनलोड बटन पर जरा सावधानी से क्लिक करें: कई बार फाइलें डाउनलोड करते समय एक से अधिक डाउनलोड बटन दिखाई देते हैं। जिन्हे देखकर हम असमंजस में फंस जाते हैं कि क्लिक करें तो किसपर? असल में होता यह है कि उनमें से कोई एक ही डाउनलोड की असली कड़ी होता है बाकी सब विज्ञापन होते हैं, जिनपर क्लिक करने से कोई और फाइल डाउनलोड हो जाती है। कई बार वायरस आदि भी आ जाते हैं।

fake_download_buttons

कौन सी कड़ी असली है और कौन सी नकली इसका पता लगाने के लिए उस बटन के ऊपर माउस ले जाएं ब्राउजर में नीचे की तरफ आपको उसका यूआरएल दिखाई देगा। यूआरएल देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यह असली कड़ी है या नकली।

२. अनुप्रयोग की स्थापना के दौरान रखें ध्यान: जब आप कोई अनुप्रयोग स्थापित करते हैं तो कई बार उसमें “डिफाल्ट इंस्टाल” या “एक्सप्रेस इंस्टाल” और “कस्टम” जैसे विकल्प मिलते हैं। ऐसे में मेरा सुझाव है कि “कस्टम इंस्टाल” विकल्प को चुनें क्योंकि इससे स्थापना सॉफ्टवेयर आपसे कई प्रश्न पूछ्ता है। अगर कहीं आपसे किसी अन्य टूलबार/अनुप्रयोग को स्थापित करने का पूछे तो उसे “ना” कहिए। इसके लिए आपको किसी रेडियो बटन या चेकबाक्स को अक्षम करना होगा।

उदाहरण के लिए जावा स्थापित करते समय बीच में ही आस्क के टूलबार की स्थापना के विषय में पूछा जाता है।
asktoolbar_with_java

फ्लैश प्लेयर डाउनलोड करते समय मैकेफी स्कैन को डाउनलोड करने के लिए पूछा जाता है।
mcaffe_with_flashplayer

३.अनचाहे टूलबार और अनुप्रयोग हटाएं: यदि कोई टूलबार या अनुप्रयोग स्थापित हो ही गया है तो आप विंडोज के “एड ऑर रिमूव प्रोग्राम्स” के जरिए उसे हटा सकते हैं।

uninstall_asktoolbar

 

—————

एक और बात कई बार अनुप्रयोग स्थापना के दौरान आपके ब्राउजर के पूर्वनिर्धारित सर्च इंजन और उसके होमपेज को भी बदल देते हैं इसलिए यदि कोई ऐसा विकल्प आता है तो ध्यान दें

अनलिमिटेड वेब होस्टिंग की सच्चाई

आपने अक्सर देखा होगा कि कई वेब होस्टिंग कंपनियां अनलिमिटेड शेयर्ड होस्टिंग बेचती हैं। क्या अनलिमिटेड का अर्थ वाकई...

More Articles Like This