भविष्य में जालस्थलों के पते ऐसे होंगे

भविष्य में जालस्थलों के पते ऐसे होंगे 4
Ankur Guptahttps://antarjaal.in
पेशे से वेब डेवेलपर, पिछले १० से अधिक वर्षों का वेबसाइटें और वेब एप्लिकेशनों के निर्माण का अनुभव। वर्तमान में ईपेपर सीएमएस क्लाउड (सॉफ्टवेयर एज सर्विस आधारित उत्पाद) का विकास और संचालन कर रहे हैं। कम्प्यूटर और तकनीक के विषय में खास रुचि। लम्बे समय तक ब्लॉगर प्लेटफॉर्म पर लिखते रहे. फिर अपना खुद का पोर्टल आरम्भ किया जो की अन्तर्जाल डॉट इन के रूप में आपके सामने है.

भविष्य में जालस्थलों के पते ऐसे होंगे 1

आजकल किसी जालस्थल का पता कुछ ऐसा होता है, www.antarjaal.in । यानि कि अंतिम हिस्सा .com, .in, .co.in आदि अक्षरों से समाप्त होता है। किन्तु आने वाले दिनों में अंतिम हिस्से में कोई भी शब्द हो सकेगा। जैसे कि blogs.antarjaal बस इतना ही काफी होगा। ICANN संस्था जो कि पूरे विश्व में डोमेन नाम जारी करती है वह अगले वर्ष (अर्थात २०१२) से ऐसे नामों के लिए आवेदन स्वीकार भी करना आरंभ कर देगी। लेकिन अधिक खुश होने की आवश्यकता इसलिए नही है क्योंकि ऐसे नाम हमारे आपके जैसे आम लोगों की पहुंच से बाहर होंगे यानि कि काफी महंगे होंगे। $185000 तो मात्र आवेदन शुल्क होगा और $25000 वार्षिक नवीनीकरण के लिए देना होगा। जाहिर सी बात है कि बड़ी कंपनियां ही ऐसे नाम पंजीकृत करवा पाएंगी।

अनलिमिटेड वेब होस्टिंग की सच्चाई

आपने अक्सर देखा होगा कि कई वेब होस्टिंग कंपनियां अनलिमिटेड शेयर्ड होस्टिंग बेचती हैं। क्या अनलिमिटेड का अर्थ वाकई...

More Articles Like This