इन 4 तरीकों से आप Deb फाइलों को इंस्टॉल कर सकते हैं

XnConvert लिनक्स में बैच इमेज प्रोसेसिंग का बेहतरीन औजार

XnConvert एक ऐसा ही क्रास प्लेटफार्म बैच इमेज प्रोसेसिंग साफ्टवेयर है जिसकी मदद से हम न केवल ढेरों चित्रों के फार्मेट एक क्लिक में बदल सकते हैं बल्कि वाटरमार्किंग, स्पेशल इफेक्ट्स, बार्डर लगाना, इमेज एडजस्टमेंट आदि भी एक ही क्लिक में कर सकते हैं। यह विंडोज लिनक्स और मैक ओएस तीनो में चलता है।

वर्डप्रेस और गूगल डॉक्स में बोलकर टाइप कैसे करें

अब वे दिन गए जब लम्बे दस्तावेज टाइप करने के लिए या तो टाइपिस्ट की मदद लेनी होती थी या फिर खुद टाइपिंग सीखनी‌ होती थी। क्योंकि अब कृत्रिम बुद्धि के विकास की वजह से बोलकर टाइप करना संभव है। आज हम वेब आधारित उन औजारों के बारे में जानेंगे जिनकी मदद से हम बोलकर लम्बे दस्तावेज टाइप कर सकते हैं।

लिनक्स टर्मिनल में किसी कमांड के परिणाम को फाइल के रूप में कैसे सहेजें

जब आप लिनक्स के टर्मिनल पर कोई कमांड देते हैं तब आपको तुरंत ही उसका परिणाम सामने मिल जाता है। लेकिन कई बार भविष्य के किसी प्रयोग हेतु इस परिणाम को सहेजना जरूरी होता है। कितना अच्छा हो यदि हम इसका परिणाम किसी फाइल में सहेज सकें।
इन 4 तरीकों से आप Deb फाइलों को इंस्टॉल कर सकते हैं 5
Ankur Guptahttps://antarjaal.in
पेशे से वेब डेवेलपर, पिछले १० से अधिक वर्षों का वेबसाइटें और वेब एप्लिकेशनों के निर्माण का अनुभव। वर्तमान में ईपेपर सीएमएस क्लाउड (सॉफ्टवेयर एज सर्विस आधारित उत्पाद) का विकास और संचालन कर रहे हैं। कम्प्यूटर और तकनीक के विषय में खास रुचि। लम्बे समय तक ब्लॉगर प्लेटफॉर्म पर लिखते रहे. फिर अपना खुद का पोर्टल आरम्भ किया जो की अन्तर्जाल डॉट इन के रूप में आपके सामने है.

इस ट्यूटोरियल में, मैं आपको कई तरीके बताऊंगा कि कैसे उबंटू और अन्य डेबियन-आधारित लिनक्स डिस्ट्रीब्यूशन पर डेब पैकेज स्थापित किया जाए। हम देखेंगे कि dpkg कमांड का उपयोग करके .deb फाइल को कैसे इंस्टॉल करें, apt का उपयोग करके, gdebi का उपयोग करके और अंत में सॉफ्टवेयर सेंटर का उपयोग करके डेब पैकेज कैसे स्थापित किए जाते हैं।

उबंटू लिनक्स में अनुप्रयोग स्थापि करने का सबसे आसान तरीका उबंटू सॉफ्टवेयर सेंटर का उपयोग करना है। आपको बस नाम से एक अनुप्रयोग खोजना होगा और उसे वहां से स्थापि करना होगा।

कुछ एप्लिकेशन केवल ’डेब’ पैकेज के माध्यम से उपलब्ध हैं। ये ऐसी फ़ाइलें होती हैं जो .deb एक्सटेंशन के साथ समाप्त होती हैं।

READ  उबुण्टू में कस्टम थीम और आइकान कैसे स्थापित करें?

dpkg कमांड का उपयोग करके deb फाइलों को स्थापित करना

Dpkg कमांड का उपयोग करके .deb फ़ाइल स्थापित करने के लिए हम -i पैरामीटर का उपयोग करेंगे।

आइये इसका उदाहरण देखते हैं:

$ sudo dpkg -i ./google-chrome-stable_current_amd64.deb
यदि हमें कोई निर्भरता के साथ (Missing Dependencies) कोई समस्या आती है, तो हमें इसे ठीक करने के लिए निम्नलिखित कमांड को चलाना होगा:
$ sudo apt install -f

Dpkg कमांड के साथ पैकेज को हटाने के लिए, हम -r पैरामीटर का उपयोग करेंगे जैसा कि नीचे दिए गए उदाहरण में बताया गया है:

$ sudo dpkg -r google-chrome-stable

APT कमांड का उपयोग करके .deb फ़ाइल को इंस्टॉल करना

Apt का उपयोग करके .deb पैकेज स्थापित करने के लिए, हमें apt के install विकल्प का उपयोग करना होगा

$ sudo apt install ./google-chrome-stable_current_amd64.deb 
..
Do you want to continue? [Y/n] 

Y दबाते ही स्थापना प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। और यह पैकेज जिन अन्य पैकेजों‌ पर निर्भर है वे सभी भी स्थापित हो जाएंगे।

READ  यूनो प्लेटफार्म के जरिए लिनक्स पर विंडोज कैलकुलेटर ऐप इंस्टॉल करें

आप गूगल क्रोम को निम्नलिखित आदेश के द्वारा हटा सकते हैं:

$ sudo apt remove google-chrome-stable
..
Do you want to continue? [Y/n] 

लेकिन इससे केवल गूगल क्रोम भर हटेगा। यदि आप उन पैकेजों को भी हटाना चाहते हैं जिनपर यह निर्भर है तो आपको निम्नलिखित आदेश देना होगा:

$ sudo apt-get autoremove

gdebi के माध्यम से deb पैकेज स्थापित करना

gdebi एक मुफ्त का साफ्टवेयर है जिसकी मदद से ग्राफिकल यूजर इंटरफेस के माध्यम से deb पैकेज स्थापित कर सकते हैं। gdebi को स्थापित करने हेतु निम्नलिखित आदेश दें

$ sudo apt install gdebi

gdebi एक बार स्थापित हो जाने के बाद उसे शुरू करें। अब File >> Open में जाएं और अपना deb पैकेज चुन लें। और Install Package बटन पर क्लिक करें।

install deb files using gdebi package installer

आपसे एडमिनिस्ट्रेटर पासवर्ड मांगा जाएगा। उसे भरें और आपका पैकेज स्थापित हो जाएगा।

सॉफ़्टवेयर केंद्र का उपयोग करके .deb फ़ाइल स्थापित करना

उबुण्टू‌ में‌ सॉफ़्टवेयर सेंटर पहले से ही‌ आता है। जब आप नाटिलस में किसी भी‌ deb फाइल पर डबल क्लिक करते हैं तो वह अपने आप ही सॉफ़्टवेयर सेंटर में खुल जाती है। यहां आप Install बटन पर क्लिक करके अपने डेब पैकेज को स्थापित कर सकते हैं। यह डेब पैकेज स्थापित करने का सबसे आसान तरीका है।

READ  Libre Office Draw से पीडीएफ दस्तावेजों का संपादन करें
install deb package using software center

ज्यादातर मामलों में, आपके द्वारा आवश्यक एप्लिकेशन पहले से ही आधिकारिक रिपॉजिटरी में पाया जा सकता है, लेकिन अगर यह उपलब्ध नहीं है, तो आप डेवलपर की वेबसाइट से एप्लिकेशन पैकेज डाउनलोड कर सकते हैं और इस ट्यूटोरियल में दिखाए गए तरीकों में से एक का उपयोग करके पैकेज स्थापित कर सकते हैं।

READ  लिनक्स कमांडों की‌ चीटशीट - TLDR Pages

XnConvert लिनक्स में बैच इमेज प्रोसेसिंग का बेहतरीन औजार

XnConvert एक ऐसा ही क्रास प्लेटफार्म बैच इमेज प्रोसेसिंग साफ्टवेयर है जिसकी मदद से हम न केवल ढेरों चित्रों के फार्मेट एक क्लिक में बदल सकते हैं बल्कि वाटरमार्किंग, स्पेशल इफेक्ट्स, बार्डर लगाना, इमेज एडजस्टमेंट आदि भी एक ही क्लिक में कर सकते हैं। यह विंडोज लिनक्स और मैक ओएस तीनो में चलता है।

वर्डप्रेस और गूगल डॉक्स में बोलकर टाइप कैसे करें

अब वे दिन गए जब लम्बे दस्तावेज टाइप करने के लिए या तो टाइपिस्ट की मदद लेनी होती थी या फिर खुद टाइपिंग सीखनी‌ होती थी। क्योंकि अब कृत्रिम बुद्धि के विकास की वजह से बोलकर टाइप करना संभव है। आज हम वेब आधारित उन औजारों के बारे में जानेंगे जिनकी मदद से हम बोलकर लम्बे दस्तावेज टाइप कर सकते हैं।

लिनक्स टर्मिनल में किसी कमांड के परिणाम को फाइल के रूप में कैसे सहेजें

जब आप लिनक्स के टर्मिनल पर कोई कमांड देते हैं तब आपको तुरंत ही उसका परिणाम सामने मिल जाता है। लेकिन कई बार भविष्य के किसी प्रयोग हेतु इस परिणाम को सहेजना जरूरी होता है। कितना अच्छा हो यदि हम इसका परिणाम किसी फाइल में सहेज सकें।

वेबमिन को फेडोरा 33 में कैसे स्थापित करें

वेबमिन यूनिक्स तथा लिनक्स के लिए वेब आधारित सिस्टम एडमिनिस्ट्रेशन साफ्टवेयर है। इस एप्लिकेशन के माध्यम से कोई भी बंदा वेब ब्राउजर के माध्यम से ही‌ अपने सर्वर को नियंत्रित कर सकता है। इसे आप लिनक्स सर्वर का जीयूआई भी कह सकते हैं। इस पोस्ट में हम सीखेंगे कि वेबमिन को फेडोरा 33 में कैसे स्थापित किया जा सकता है।

लिनक्स कमांडों की‌ चीटशीट – TLDR Pages

लिनक्स में यदि किसी कमांड के बारे में जानना हो तो MAN पेजों का सहारा लेना पड़ता है। MAN पेजों में यद्यपि उस कमांड के विषय में सम्पूर्ण जानकारी होती है फिर भी आम उपयोगकर्ता के लिए ये समझने में कुछ कठिन रहता है। आज हम TLDR के विषय में चर्चा करेंगे। TLDR लोगों द्वारा बनाए गए लिनक्स कमांड से संबंधित "हेल्प पेजों" का संग्रह है जिन्हे कि किसी भी क्लाइंट द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। यह पारंपरिक MAN पेजों का एक तगड़ा विकल्प बन सकता है। क्योंकि ये समझने में बेहद आसान है।

More Articles Like This