वर्डप्रेस के धीमेपन का पता लगाने हेतु 4 बेहतरीन प्लग इन

XnConvert लिनक्स में बैच इमेज प्रोसेसिंग का बेहतरीन औजार

XnConvert एक ऐसा ही क्रास प्लेटफार्म बैच इमेज प्रोसेसिंग साफ्टवेयर है जिसकी मदद से हम न केवल ढेरों चित्रों के फार्मेट एक क्लिक में बदल सकते हैं बल्कि वाटरमार्किंग, स्पेशल इफेक्ट्स, बार्डर लगाना, इमेज एडजस्टमेंट आदि भी एक ही क्लिक में कर सकते हैं। यह विंडोज लिनक्स और मैक ओएस तीनो में चलता है।

वर्डप्रेस और गूगल डॉक्स में बोलकर टाइप कैसे करें

अब वे दिन गए जब लम्बे दस्तावेज टाइप करने के लिए या तो टाइपिस्ट की मदद लेनी होती थी या फिर खुद टाइपिंग सीखनी‌ होती थी। क्योंकि अब कृत्रिम बुद्धि के विकास की वजह से बोलकर टाइप करना संभव है। आज हम वेब आधारित उन औजारों के बारे में जानेंगे जिनकी मदद से हम बोलकर लम्बे दस्तावेज टाइप कर सकते हैं।

लिनक्स टर्मिनल में किसी कमांड के परिणाम को फाइल के रूप में कैसे सहेजें

जब आप लिनक्स के टर्मिनल पर कोई कमांड देते हैं तब आपको तुरंत ही उसका परिणाम सामने मिल जाता है। लेकिन कई बार भविष्य के किसी प्रयोग हेतु इस परिणाम को सहेजना जरूरी होता है। कितना अच्छा हो यदि हम इसका परिणाम किसी फाइल में सहेज सकें।
वर्डप्रेस के धीमेपन का पता लगाने हेतु 4 बेहतरीन प्लग इन 11
Ankur Guptahttps://antarjaal.in
पेशे से वेब डेवेलपर, पिछले १० से अधिक वर्षों का वेबसाइटें और वेब एप्लिकेशनों के निर्माण का अनुभव। वर्तमान में ईपेपर सीएमएस क्लाउड (सॉफ्टवेयर एज सर्विस आधारित उत्पाद) का विकास और संचालन कर रहे हैं। कम्प्यूटर और तकनीक के विषय में खास रुचि। लम्बे समय तक ब्लॉगर प्लेटफॉर्म पर लिखते रहे. फिर अपना खुद का पोर्टल आरम्भ किया जो की अन्तर्जाल डॉट इन के रूप में आपके सामने है.

वर्डप्रेस में जितने प्लग इन डालते जाओ यह उतना ही‌ सर्वर के लिए भारी होता जाता है। अधिक प्लग इन आदि से वेबसाइट धीमी होने लगती है या फ़िर सर्वर पर सीपीयू उपभोग बढ़ जाता है। तो ऐसे में जरूरी हो जाता है कि हम समस्या की जड़ का पता लगाएं और फिर उसे सुलझाएं। आज हम यहां कुछ ऐसे प्लगइनों की चर्चा करने जा रहे हैं जिनसे वर्डप्रेस के धीमेपन के असली कारण का पता लगाया जा सकता है।

READ  Nextcloud को Nginx सर्वर पर कैसे स्थापित करें?

1) Query Monitor: मुझे इस प्लग इन की सबसे अच्छी बात यह लगी कि यह प्लग इन हमें इस बात की‌ जानकारी दे देता है कि किसी अनुरोध में कुल कितनी माईएसक्यूएल क्वेरी चली और वे क्वेरी किस किस प्लग इन और थीम द्वारा चलाई गई। यह हमें डुप्लिकेट और धीमी क्वेरियों के बारे भी‌ बता देता है। इन सबके अलावा क्वेरी मानीटर हुक, स्टाइल, स्क्रिप्ट आदि के विषय में भी महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराता है। वर्डप्रेस थीम और प्लग इन डेवेलपरों के लिए यह प्लग इन बेहद उपयोगी सिद्ध हो सकता है।

READ  PHP Desktop से पीएचपी से बनाएं‌ डेस्कटॉप अनुप्रयोग
वर्डप्रेस के धीमेपन का पता लगाने हेतु 4 बेहतरीन प्लग इन 1

2) F12-Profiler: एफ१२ प्रोफ़ाइलर हमें हर प्लग इन के लोड टाइम और अलग अलग जावास्क्रिप्ट, पीएचपी फाइलों के क्रियान्वयन के समय को बताता है। इससे इस बात का पता लगाया जा सकता है कि साइट को धीमा करने वाला कोड किस फाइल में‌ पड़ा हुआ है।

वर्डप्रेस के धीमेपन का पता लगाने हेतु 4 बेहतरीन प्लग इन 3

3) Plugins Garbage Collector: कई ऐसे प्लग इन होते हैं जिन्हे जब स्थापित किया जाता है तब वो डेटाबेस में कुछ टेबलें भी बना देते हैं। किन्तु जब प्लग इन को हटा दिया जाता है तब भी‌ वो टेबलें डेटाबेस में पड़ी‌ रह जाती हैं। इससे डेटाबेस का आकार अनावश्यक रूप से बढ़ सकता है। Plugin Garbage Collector के जरिए हम यह पता लगा सकते हैं कि वर्डप्रेस डेटाबेस में पड़ी ऐसी अनुपयोगी टेबलें कौन सी हैं और उन्हे हटाया भी‌ जा सकता है।

वर्डप्रेस के धीमेपन का पता लगाने हेतु 4 बेहतरीन प्लग इन 5

4) Plugin Detective – Troubleshooting: प्लग इन डिटेक्टिव किसी जासूस की शैली में‌ आपके सभी प्लगइनों‌ की‌ जांच करता है और आपसे सवाल जवाब करके गड़बड़ वाले प्लग इन का पता लगाता है। इसका इंटरफेस बेहद रोचक है और आम उपयोगकर्ता के लिए बेहद सरल है।

READ  नेक्स्ट क्लाउड: ड्रॉपबॉक्स और गूगल ड्राइव का मुफ्त और मुक्तस्रोत विकल्प

XnConvert लिनक्स में बैच इमेज प्रोसेसिंग का बेहतरीन औजार

XnConvert एक ऐसा ही क्रास प्लेटफार्म बैच इमेज प्रोसेसिंग साफ्टवेयर है जिसकी मदद से हम न केवल ढेरों चित्रों के फार्मेट एक क्लिक में बदल सकते हैं बल्कि वाटरमार्किंग, स्पेशल इफेक्ट्स, बार्डर लगाना, इमेज एडजस्टमेंट आदि भी एक ही क्लिक में कर सकते हैं। यह विंडोज लिनक्स और मैक ओएस तीनो में चलता है।
READ  जीमेल में ईमेल सरलता से कैसे ब्लॉक करें

वर्डप्रेस और गूगल डॉक्स में बोलकर टाइप कैसे करें

अब वे दिन गए जब लम्बे दस्तावेज टाइप करने के लिए या तो टाइपिस्ट की मदद लेनी होती थी या फिर खुद टाइपिंग सीखनी‌ होती थी। क्योंकि अब कृत्रिम बुद्धि के विकास की वजह से बोलकर टाइप करना संभव है। आज हम वेब आधारित उन औजारों के बारे में जानेंगे जिनकी मदद से हम बोलकर लम्बे दस्तावेज टाइप कर सकते हैं।

लिनक्स टर्मिनल में किसी कमांड के परिणाम को फाइल के रूप में कैसे सहेजें

जब आप लिनक्स के टर्मिनल पर कोई कमांड देते हैं तब आपको तुरंत ही उसका परिणाम सामने मिल जाता है। लेकिन कई बार भविष्य के किसी प्रयोग हेतु इस परिणाम को सहेजना जरूरी होता है। कितना अच्छा हो यदि हम इसका परिणाम किसी फाइल में सहेज सकें।

वेबमिन को फेडोरा 33 में कैसे स्थापित करें

वेबमिन यूनिक्स तथा लिनक्स के लिए वेब आधारित सिस्टम एडमिनिस्ट्रेशन साफ्टवेयर है। इस एप्लिकेशन के माध्यम से कोई भी बंदा वेब ब्राउजर के माध्यम से ही‌ अपने सर्वर को नियंत्रित कर सकता है। इसे आप लिनक्स सर्वर का जीयूआई भी कह सकते हैं। इस पोस्ट में हम सीखेंगे कि वेबमिन को फेडोरा 33 में कैसे स्थापित किया जा सकता है।

लिनक्स कमांडों की‌ चीटशीट – TLDR Pages

लिनक्स में यदि किसी कमांड के बारे में जानना हो तो MAN पेजों का सहारा लेना पड़ता है। MAN पेजों में यद्यपि उस कमांड के विषय में सम्पूर्ण जानकारी होती है फिर भी आम उपयोगकर्ता के लिए ये समझने में कुछ कठिन रहता है। आज हम TLDR के विषय में चर्चा करेंगे। TLDR लोगों द्वारा बनाए गए लिनक्स कमांड से संबंधित "हेल्प पेजों" का संग्रह है जिन्हे कि किसी भी क्लाइंट द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। यह पारंपरिक MAN पेजों का एक तगड़ा विकल्प बन सकता है। क्योंकि ये समझने में बेहद आसान है।

More Articles Like This