ट्विटर बूटस्ट्रैप और एचटीएमएल किकस्टार्ट में से कौन बेहतर

ट्विटर बूटस्ट्रैप और एचटीएमएल किकस्टार्ट में से कौन बेहतर 5
Ankur Guptahttps://antarjaal.in
पेशे से वेब डेवेलपर, पिछले १० से अधिक वर्षों का वेबसाइटें और वेब एप्लिकेशनों के निर्माण का अनुभव। वर्तमान में ईपेपर सीएमएस क्लाउड (सॉफ्टवेयर एज सर्विस आधारित उत्पाद) का विकास और संचालन कर रहे हैं। कम्प्यूटर और तकनीक के विषय में खास रुचि। लम्बे समय तक ब्लॉगर प्लेटफॉर्म पर लिखते रहे. फिर अपना खुद का पोर्टल आरम्भ किया जो की अन्तर्जाल डॉट इन के रूप में आपके सामने है.

bootstrap kickstart

मित्रों अभी हाल ही में मुझे एक वालपेपर पोर्टल विकसित करने का काम मिला। पूरी परियोजना काफी बड़ी थी। और जटिलता को देखते हुए मैं इसके सर्वर साइड वाले हिस्से यानि कि पीएचपी वाले हिस्से पर अधिक ध्यान देना चाहता था। अत: मुझे कोई ऐसा औजार चाहिए था जिससे इसके य़ूआई को बनाने में समय कम लगे और जो डिजाइन बने वह “क्रास ब्राउजर” हो यानि कि सभी ब्राउजरों में सही ढंग से दिखे। जब खोजबीन की तो मुझे ऐसी दो लाइब्रेरियों का पता लगा एक थी ट्विटर बूटस्ट्रैप और दूसरी थी एचटीएमएल किकस्टार्ट। पहली नजर में तो मुझे दोनो ही अच्छी लग रही थी। लेकिन परेशानी ये थी कि किसे चुनूं? कहीं ऐसा न हो कि बीच में काम अटक जाए। फिर मैंने फैसला किया कि एडमिन पैनल को मैं एचटीएमएल किकस्टार्ट में बनाउंगा। सार्वजनिक हिस्से के विषय में बाद में सोचेंगे।

READ  नेक्स्ट क्लाउड: ड्रॉपबॉक्स और गूगल ड्राइव का मुफ्त और मुक्तस्रोत विकल्प

बनाते बनाते महसूस हुआ कि किक स्टार्ट में कई छोटी छोटी गड़बड़ियां हैं जिसकी वजह से की चीजें वैसी काम नही कर रही जैसा उन्हे करना चाहिए। खास तौर पर एजेक्स से प्राप्त डेटा के द्वारा स्वचालित रूप से यूआई पैदा करने में यह ठीक आइकान वगैरह नही बना पाता था। तभी मुझे किक स्टार्ट के प्रोग्रामर का ईमेल प्राप्त हुआ जिसमें उसने लिखा था कि किक स्टार्ट प्रोजेक्ट एक वर्ष से लगभग रुका हुआ है क्योंकि वह अन्य कार्यों में व्यस्त था। इल्लो! अब समझ में आया कि इतनी गड़बड़ क्यों है। खैर मैंने किकस्टार्ट की उन गड़बड़ियों को खुद ही ठीक किया और एक बढ़िया सा एडमिन पैनल विकसित कर दिया।

READ  नेक्स्ट क्लाउड: ड्रॉपबॉक्स और गूगल ड्राइव का मुफ्त और मुक्तस्रोत विकल्प

अब बारी थी वेबसाइट के बाहरी हिस्से को बनाने की। “किक स्टार्ट” की एक “किक” तो पड़ चुकी थी और ग्राहक को वेबसाइट काले गहरे रंग में चाहिए थी। जबकि किकस्टार्ट सफेद और हल्के रंग के डिजाइन में अधिक जमता था। जब मैंने ट्विटर बूट्स्ट्रैप की ओर देखा तो पता लगा कि यह भी सफेद रंग में पला बढ़ा है। फिर भी मैंने सोचा कि चलो आजमाकर देखते हैं फिर बाद में सीएसएस फाइल में बदलाव करके रंग बदल लेंगे। कम से कम किक स्टार्ट जैसे “बगों” का सामना तो नही करना पड़ेगा।

READ  वर्चुअल मशीन क्या है? वर्चुअल मशीनों के 5 प्रमुख लाभ

काम शुरू किया। सच बताऊं बूटस्ट्रैप मुझे किकस्टार्ट की तुलना में कम से कम लाख गुना बेहतर लगा। यह सक्रिय परियोजना है इसलिए बग फिक्स होते रहते हैं और विकास कार्य अबाध गति से जारी रहता है। इसी दौरान जब मैंने नेट पर ट्विटर बूटस्ट्रैप की थीम खोजना शुरू की तो मुझे एक “डार्कस्ट्रैप” नाम की थीम मिली। इससे साईट एक ही बार में काले गहरे रंग में हो गई। और कुछ छोटे परिवर्तन के बाद सब अच्छे से हो गया।

READ  वेबमिन को फेडोरा 33 में कैसे स्थापित करें

निष्कर्ष यह है कि ट्विटर बूटस्ट्रैप, एचटीएमएल किकस्टार्ट से कई गुना बेहतर है। और दिखने में सुंदर भी।

खैर इन दोनो लाइब्रेरियों की बदौलत मैं अपने पीएचपी कोड में अधिक अच्छे से ध्यान दे पाया और एक अच्छा एप्लिकेशन विकसित कर पाया। वर्ना सीएसएस में ही उलझा रहता। इतने पर भी मेहनत इतनी हो गई है कि अब गर्दन में दर्द शुरू हो गया। हलांकि अभी हाल के कुछ महीनों में एचटीएमएल किकस्टार्ट के लेखक नें इसमें काफी सुधार और बदलाव किए हैं। अत: एक बार आजमानें में कोई हर्ज नही। फिर भी बूटस्ट्रैप तो जिंदाबाद ही है।

READ  Tasksel से उबुण्टू‌/डेबियन में LAMP सर्वर स्थापित करें

http://twitter.github.io/bootstrap/

http://99lime.com/

अनलिमिटेड वेब होस्टिंग की सच्चाई

आपने अक्सर देखा होगा कि कई वेब होस्टिंग कंपनियां अनलिमिटेड शेयर्ड होस्टिंग बेचती हैं। क्या अनलिमिटेड का अर्थ वाकई...

More Articles Like This