स्लीप और हाइबर्नेट क्या है?

माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित करें?

माइक्रोसाफ्ट टीम्स क्लाइंट पहला माइक्रोसाफ्ट 365 एप है जो कि लिनक्स डेस्कटाप के लिए उपलब्ध है। यह साफ्टवेयर चैट, वीडीयो मीटिंग, कालिंग और आफिस 365 के दस्तावेजों में सहकार्य हे एक ही मंच पर उपलब्ध करवाता है। इस पोस्ट में हम सीखेंगे कि माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित किया जा सकता है।

XnConvert लिनक्स में बैच इमेज प्रोसेसिंग का बेहतरीन औजार

XnConvert एक ऐसा ही क्रास प्लेटफार्म बैच इमेज प्रोसेसिंग साफ्टवेयर है जिसकी मदद से हम न केवल ढेरों चित्रों के फार्मेट एक क्लिक में बदल सकते हैं बल्कि वाटरमार्किंग, स्पेशल इफेक्ट्स, बार्डर लगाना, इमेज एडजस्टमेंट आदि भी एक ही क्लिक में कर सकते हैं। यह विंडोज लिनक्स और मैक ओएस तीनो में चलता है।

वर्डप्रेस और गूगल डॉक्स में बोलकर टाइप कैसे करें

अब वे दिन गए जब लम्बे दस्तावेज टाइप करने के लिए या तो टाइपिस्ट की मदद लेनी होती थी या फिर खुद टाइपिंग सीखनी‌ होती थी। क्योंकि अब कृत्रिम बुद्धि के विकास की वजह से बोलकर टाइप करना संभव है। आज हम वेब आधारित उन औजारों के बारे में जानेंगे जिनकी मदद से हम बोलकर लम्बे दस्तावेज टाइप कर सकते हैं।
स्लीप और हाइबर्नेट क्या है? 9
Ankur Guptahttps://antarjaal.in
पेशे से वेब डेवेलपर, पिछले १० से अधिक वर्षों का वेबसाइटें और वेब एप्लिकेशनों के निर्माण का अनुभव। वर्तमान में ईपेपर सीएमएस क्लाउड (सॉफ्टवेयर एज सर्विस आधारित उत्पाद) का विकास और संचालन कर रहे हैं। कम्प्यूटर और तकनीक के विषय में खास रुचि। लम्बे समय तक ब्लॉगर प्लेटफॉर्म पर लिखते रहे. फिर अपना खुद का पोर्टल आरम्भ किया जो की अन्तर्जाल डॉट इन के रूप में आपके सामने है.

स्लीप और हाइबर्नेट क्या है? 5

स्लीप: स्लीप वह स्थिति है जिसमें कम्प्यूटर रैम में अपने आंकड़ों को रखता तो जरूर है पर अन्य हार्डवेयरों को लगभग बंद कर देता है। इससे बहुत कम बिजली खर्च होती है। और जब भी आप कम्प्यूटर को पुरानी स्थिति में लौटने के लिए कहते हैं यह पूरे हार्डवेयर को बिजली देकर फिर से पुरानी स्थिति में लौट आता है।

READ  एंड्रायड को बिना root किए एंड्रायड में hosts फाइलें संपादित करें

हाइबर्नेट: हाइबर्नेट की स्थिति में कम्प्यूटर रैम में रखी हुई सभी सूचनाओं को हार्डडिस्क में भर लेता है और बंद हो जाता है। जब आप कम्प्यूटर पुन:आरंभ करते हैं तब यह हार्डडिस्क से उन सूचनाओं को रैम में फिर से डाल देता है। इससे आपको कम्प्यूटर पुरानी स्थिति में मिल जाता है।

हाइबरनेट और स्लीप में फर्क यह है कि स्लीप की स्थिति में कम्प्यूटर पूरी तरह से बंद नही होता है जबकि हाइबरनेट की स्थिति में बंद हो जाता है। हाइबरनेट की तुलना में स्लीप से कम्प्यूटर जल्दी सक्रिय हो जाता है। यदि आप थोड़े समय के लिए कम्प्यूटर को छोड़कर जा रहे हों और जल्द ही लौटने वाले हों तो स्लीप मोड में भेज देना अधिक उचित है।

READ  NetData: उबुण्टू‌ सर्वर की निगरानी का मुफ्त औजार

हाइब्रिड स्लीप: इसमें स्लीप और हाइबरनेट दोनो एक साथ होते हैं। मतलब ये कि, एक ओर आपकी रैम की सूचनाओं की एक प्रति हार्ड डिस्क में चली जाती है। पर वह रैम में भी बनी रहती है। और कम्प्यूटर स्लीप मोड मे चला जाता है। जब आप उसे सक्रिय करते हैं तब वह तुरंत वापिस पुरानी वाली स्थिति में आ जाता है। लेकिन यदि कभी बिजली चली गई तब भी चूंकि रैम की सूचनाएं हार्ड डिस्क में भी उपलब्ध रहती हैं इसलिए कम्प्यूटर चालू करते ही वह हाइबरनेट से जाग जाता है यानि कि पुन: पुरानी स्थिति में मिल जाता है। आजकल के ज्यादातर डेस्कटॉप कम्प्यूटरों में हाइब्रिड स्लीप पहले से ही चालू होती है।

READ  5 बेहतरीन मुक्त स्रोत सॉफ्टवेयर जिन्हे आपको आजमाना चाहिए

कम्प्यूटर को हाइबरनेट में डालने का विकल्प Start > Shutdown मेन्यू में मिलता है। यदि यह किसी कारणवश नही दिखाई दे रहा है तो इसका मतलब है कि हाइब्रिड स्लीप चालू है। हाइबरनेशन और हाइब्रिड स्लीप की सेटिंस बदलने के लिए

READ  Pop OS Linux की‌ 5 खास विशेषताएं

Start > Control Panel > Power Options > Change Plan Settings > Change Advanced Plan Settings में जाएं। अब यहां ट्री व्यू में स्लीप मोड आप बदल सकते हैं।

स्लीप और हाइबर्नेट क्या है? 6

माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित करें?

माइक्रोसाफ्ट टीम्स क्लाइंट पहला माइक्रोसाफ्ट 365 एप है जो कि लिनक्स डेस्कटाप के लिए उपलब्ध है। यह साफ्टवेयर चैट, वीडीयो मीटिंग, कालिंग और आफिस 365 के दस्तावेजों में सहकार्य हे एक ही मंच पर उपलब्ध करवाता है। इस पोस्ट में हम सीखेंगे कि माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित किया जा सकता है।

More Articles Like This