वेब ब्राउज़रों की सुरक्षा जांचने के लिए ५ जालस्थल

माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित करें?

माइक्रोसाफ्ट टीम्स क्लाइंट पहला माइक्रोसाफ्ट 365 एप है जो कि लिनक्स डेस्कटाप के लिए उपलब्ध है। यह साफ्टवेयर चैट, वीडीयो मीटिंग, कालिंग और आफिस 365 के दस्तावेजों में सहकार्य हे एक ही मंच पर उपलब्ध करवाता है। इस पोस्ट में हम सीखेंगे कि माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित किया जा सकता है।

XnConvert लिनक्स में बैच इमेज प्रोसेसिंग का बेहतरीन औजार

XnConvert एक ऐसा ही क्रास प्लेटफार्म बैच इमेज प्रोसेसिंग साफ्टवेयर है जिसकी मदद से हम न केवल ढेरों चित्रों के फार्मेट एक क्लिक में बदल सकते हैं बल्कि वाटरमार्किंग, स्पेशल इफेक्ट्स, बार्डर लगाना, इमेज एडजस्टमेंट आदि भी एक ही क्लिक में कर सकते हैं। यह विंडोज लिनक्स और मैक ओएस तीनो में चलता है।

वर्डप्रेस और गूगल डॉक्स में बोलकर टाइप कैसे करें

अब वे दिन गए जब लम्बे दस्तावेज टाइप करने के लिए या तो टाइपिस्ट की मदद लेनी होती थी या फिर खुद टाइपिंग सीखनी‌ होती थी। क्योंकि अब कृत्रिम बुद्धि के विकास की वजह से बोलकर टाइप करना संभव है। आज हम वेब आधारित उन औजारों के बारे में जानेंगे जिनकी मदद से हम बोलकर लम्बे दस्तावेज टाइप कर सकते हैं।
वेब ब्राउज़रों की सुरक्षा जांचने के लिए ५ जालस्थल 18
Ankur Guptahttps://antarjaal.in
पेशे से वेब डेवेलपर, पिछले १० से अधिक वर्षों का वेबसाइटें और वेब एप्लिकेशनों के निर्माण का अनुभव। वर्तमान में ईपेपर सीएमएस क्लाउड (सॉफ्टवेयर एज सर्विस आधारित उत्पाद) का विकास और संचालन कर रहे हैं। कम्प्यूटर और तकनीक के विषय में खास रुचि। लम्बे समय तक ब्लॉगर प्लेटफॉर्म पर लिखते रहे. फिर अपना खुद का पोर्टल आरम्भ किया जो की अन्तर्जाल डॉट इन के रूप में आपके सामने है.

अन्य अनुप्रयोगों की तरह ही वेब ब्राउज़रों की भी अपनी कमजोरियां होती हैं। यदि इन कमजोरियों के विषय में पता हो तो उन्हे आसानी से दूर भी किया जा सकता है। आज हम कुछ ऐेसे वेब अनुप्रयोगों की चर्चा करेंगे जिनके जरिए हम अपने ब्राउज़र के बारे में अधिक जान सकेंगे और उसके सुरक्षा छिद्रों का पता लगा सकेंगे।

१. ब्राउज़र स्कोप (http://www.browserscope.org)

इसके जरिए हमे एक साथ सभी प्रकार की जांच शुरू कर सकते हैं और फिर ये अंत में हमें पूरी रपट दिखाता है। यह ब्राउज़र के सुरक्षा संबंधी जानकारियों के अलावा रिच पाठ्य, एसिड, सेलेक्टर एपीआई इत्यादि से संबंधित जानकारी भी प्रदान करता है।

वेब ब्राउज़रों की सुरक्षा जांचने के लिए ५ जालस्थल 11

२. ब्राउज़र स्पाई (http://browserspy.dk/)

यह सेवा भी ब्राउज़र स्कोप की समान ही है लेकिन इसके द्वारा प्रदान की की गई जानकारी अधिक जल्दी समझ में आती है। और हां! इसमें हर जांच आपको अलग अलग करनी होती हैं।

वेब ब्राउज़रों की सुरक्षा जांचने के लिए ५ जालस्थल 12

३. पीसी फ्लैंक (http://www.pcflank.com)

इस सेवा की खास बात यह है कि यह सुरक्षा खामियों को बताने के साथ साथ उन्हे दूर करने का उपाय भी बताती है। इसमें पोर्ट स्कैनर और इंटरनेट की गति भी जांचने की सुविधा है।

वेब ब्राउज़रों की सुरक्षा जांचने के लिए ५ जालस्थल 13

४. क्वालिस ब्राउज़र चेक (https://browsercheck.qualys.com/)

इस सेवा का इस्तेमाल करने के लिए आपको एड ऑन स्थापित करना होगा क्योंकि यह सेवा एड ऑन के जरिए ही आपके ब्राउज़र की जानकारी इकट्ठी करती है।

वेब ब्राउज़रों की सुरक्षा जांचने के लिए ५ जालस्थल 14

५. स्कैन इट ब्राउज़र सिक्योरिटी चेक (http://bcheck.scanit.be/bcheck/go.php)

स्कैन इट सुरक्षा जांच की सेवा देने वाली कंपनी है। इसकी ऑनलाइन ब्राउज़र सुरक्षा जांच की सेवा १९ प्रकार की विभिन्न जांचों को करती है।

वेब ब्राउज़रों की सुरक्षा जांचने के लिए ५ जालस्थल 15

माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित करें?

माइक्रोसाफ्ट टीम्स क्लाइंट पहला माइक्रोसाफ्ट 365 एप है जो कि लिनक्स डेस्कटाप के लिए उपलब्ध है। यह साफ्टवेयर चैट, वीडीयो मीटिंग, कालिंग और आफिस 365 के दस्तावेजों में सहकार्य हे एक ही मंच पर उपलब्ध करवाता है। इस पोस्ट में हम सीखेंगे कि माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित किया जा सकता है।

More Articles Like This