जीएडिट के नुस्खे

माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित करें?

माइक्रोसाफ्ट टीम्स क्लाइंट पहला माइक्रोसाफ्ट 365 एप है जो कि लिनक्स डेस्कटाप के लिए उपलब्ध है। यह साफ्टवेयर चैट, वीडीयो मीटिंग, कालिंग और आफिस 365 के दस्तावेजों में सहकार्य हे एक ही मंच पर उपलब्ध करवाता है। इस पोस्ट में हम सीखेंगे कि माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित किया जा सकता है।

XnConvert लिनक्स में बैच इमेज प्रोसेसिंग का बेहतरीन औजार

XnConvert एक ऐसा ही क्रास प्लेटफार्म बैच इमेज प्रोसेसिंग साफ्टवेयर है जिसकी मदद से हम न केवल ढेरों चित्रों के फार्मेट एक क्लिक में बदल सकते हैं बल्कि वाटरमार्किंग, स्पेशल इफेक्ट्स, बार्डर लगाना, इमेज एडजस्टमेंट आदि भी एक ही क्लिक में कर सकते हैं। यह विंडोज लिनक्स और मैक ओएस तीनो में चलता है।

वर्डप्रेस और गूगल डॉक्स में बोलकर टाइप कैसे करें

अब वे दिन गए जब लम्बे दस्तावेज टाइप करने के लिए या तो टाइपिस्ट की मदद लेनी होती थी या फिर खुद टाइपिंग सीखनी‌ होती थी। क्योंकि अब कृत्रिम बुद्धि के विकास की वजह से बोलकर टाइप करना संभव है। आज हम वेब आधारित उन औजारों के बारे में जानेंगे जिनकी मदद से हम बोलकर लम्बे दस्तावेज टाइप कर सकते हैं।
जीएडिट के नुस्खे 21
Ankur Guptahttps://antarjaal.in
पेशे से वेब डेवेलपर, पिछले १० से अधिक वर्षों का वेबसाइटें और वेब एप्लिकेशनों के निर्माण का अनुभव। वर्तमान में ईपेपर सीएमएस क्लाउड (सॉफ्टवेयर एज सर्विस आधारित उत्पाद) का विकास और संचालन कर रहे हैं। कम्प्यूटर और तकनीक के विषय में खास रुचि। लम्बे समय तक ब्लॉगर प्लेटफॉर्म पर लिखते रहे. फिर अपना खुद का पोर्टल आरम्भ किया जो की अन्तर्जाल डॉट इन के रूप में आपके सामने है.

जी एडिट को तो आप जानते ही हैं| यह लिनक्स आधारित पाठ्य संपादक है| इसे आप लिनक्स का नोट पैड मान सकते हैं| लेकिन यह विन्डोज़ के नोट पैड से कई गुना बेहतर है| इसकी खूबियां कुछ इस प्रकार हैं:

१. विभिन्न प्रोग्रामिंग भाषाओं के स्रोत कोड को सम्पादित करने की सुविधा| इसमे मार्कअप भाषाएँ भी शामिल हैं|
२. प्रोग्रामिंग भाषाओं के शब्दों को विभिन्न रंगों से रंगकर बेहतर ढंग से समझने योग्य बनाना|
३. टैबों के द्वारा एक से अधिक फाइलों को एक साथ खोले रखने की सुविधा|
४. एक प्लग इन तंत्र ताकि और भी अधिक सुविधाएँ जोड़ी जा सकें|

READ  लिनक्स कमांडों की‌ चीटशीट - TLDR Pages

आइये अब जी एडिट में कुछ और भी चीज़ों को करने के विषय में जानते है:

१. पंक्ति संख्या प्रदर्शित करना

जी एडिट वरीयता या प्रिफरेंस के डायलाग बॉक्स को संपादन > वरीयता में जाकर खोलें
अब पहली ही टैब “देखें” में लाइन नम्बर्स के नीचे में “पंक्ति संख्या प्रदर्शित करें के डायलाग बॉक्स को सक्षम कर दें| “बंद करें” बटन पर क्लिक करके बहार आ जाएँ| पंक्ति संख्या दिखने लगेंगी|

READ  स्टैशर: लिनक्स सिस्टम ऑप्टिमाइजेशन का बेहतरीन औजार

जीएडिट के नुस्खे 13

२. मिलान कोष्ठकों को आलोकित करना

प्रोग्रामिंग भाषाओं में कोष्ठकों का बहुत महत्व है| खासकर { } यानी मझले कोष्ठक का| यदि हम चाहते हैं की कोष्ठक के एक हिस्से को कर्सर द्वारा छूने पर दूसरा हिस्सा चमकना चाहिए तो हमें उसी वरीयता के डायलाग बॉक्स में “देखें” टैब के अंतर्गत “मिलन कोष्ठक आलोकित करें” विकल्प को सक्षम करना होगा|

३. फाइलों को स्वचालित रूप से सहेजना

वरीयता डायलाग बाक्स की तीसरी टैब “सम्पादक” की होती है| इसमें “फाइल स्वत: सहेजें प्रत्येक. . . . . मिनट में समय देकर सक्षम कर देने से आपकी खुली फाइल उतने समय बाद अपने आप ही सहेज ली जाएगी|
जीएडिट के नुस्खे 14

४. रंगों को बदलना

इसी डायलाग बॉक्स में तीसरी टैब होती है “फॉण्ट और रंग” की| इस टैब से आप संपादक का रंग और फॉण्ट परिवर्तित कर सकते हैं|

जीएडिट के नुस्खे 15

५. प्लगिनो के जरिये अधिक सुविधाएँ जोड़ना:

वरीयता के डायलाग बॉक्स की आख़िरी टैब होती है प्लागिनो की| इस टैब से हम संपादक में कुछ अतिरिक्त सुविधाएँ जैसे “वर्तनी जांचक” इत्यादि जोड़ सकते हैं|
जीएडिट के नुस्खे 16

READ  Tasksel से उबुण्टू‌/डेबियन में LAMP सर्वर स्थापित करें

६. तारीख और समय जोड़ना

यदि आप अपनी फाइल में तारीख अथवा समय लिखना चाहते हैं तो जी एडिट आपको विभिन्न संरूपों में तारीख और समय लिखने की सुविधा प्रदान करता है| इसके लिए “संपादन” मेन्यू में जाकर “तिथि समय प्रविष्ट करें” विकल्प में क्लिक करना होगा|

आपके सामने यह डायलाग बॉक्स आ जाएगा जिसके जरिये आप विभिन्न संरूपों में से कोई एक चुनकर तारीख और समय जोड़ सकते हैं|

READ  NetData: उबुण्टू‌ सर्वर की निगरानी का मुफ्त औजार

जीएडिट के नुस्खे 17

[ध्यान रहे यह विकल्प “तिथि समय प्रविष्ट करें” प्लग इन के सक्षम होने पर ही कार्य करता है]

७. प्रोग्रामिंग भाषा का समर्थन सक्षम करना

जी एडिट के स्टेटस बार में जहां “सादा पाठ” लिखा होता है वहां पर क्लिक करने से ढेर सारी प्रोग्रामिंग भाषाओं की सूची दिखाई देने लगती है| इनमें से किसी में‌ क्लिक करने से उस भाषा का समर्थन प्रभावी हो जाता है और सम्बन्धित भाषा के अनुसार कोड रंगो से आलोकित होने लगता है|

जीएडिट के नुस्खे 18

८. कुछ अतिरिक्त प्लगइन स्थापित करना

आप केवल एक आदेश से कई अतिरिक्त प्लगइनों को स्थापित कर सकते हैं:
sudo apt-get install gedit-plugins

READ  आउटलुक में ईमेल एलियास कैसे जोड़ें?

इन प्लग इनों में‌ से कुछ इस प्रकार हैं:

  • Bracket Completion: जब आप किसी कोष्ठक को जोडें तो स्वत: ही किसी कोष्ठक को बंद करना|
  • Charmap:कैरेक्टर मैप से किसी कैरेक्टर को चुनना
  • Code Comment: कोड के किसी हिस्से को टिप्पणी में परिवर्तित करना
  • Color picker: रंग चुनने का डायलाग बाक्स
  • Join lines/ Split lines: Ctrl+J तथा Ctrl+Shift+J की सहायता से पंक्तियों को जोड़ना तोड़ना|
  • Session Saver: सत्रों को पुस्तक चिऩ्हित करना, ताकि उऩ्हे बाद में शुरू किया जा सके|
  • Show tabbar:जीएडिट टैब बार को छिपाना दिखाना
  • Terminal: निचले फलक में टर्मिनल

माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित करें?

माइक्रोसाफ्ट टीम्स क्लाइंट पहला माइक्रोसाफ्ट 365 एप है जो कि लिनक्स डेस्कटाप के लिए उपलब्ध है। यह साफ्टवेयर चैट, वीडीयो मीटिंग, कालिंग और आफिस 365 के दस्तावेजों में सहकार्य हे एक ही मंच पर उपलब्ध करवाता है। इस पोस्ट में हम सीखेंगे कि माइक्रोसाफ्ट टीम्स को लिनक्स पर कैसे स्थापित किया जा सकता है।

More Articles Like This