वे ५ चीजें जो आपको उबुन्टू स्थापित करने के बाद करनी चाहिए

गूगल ने जूम एप पर प्रतिबंध लगाया

जहां तालाबंदी के बीच जूम एप घर से काम करने वाले विभिन्न कर्मचारियों के बीच लोकप्रिय हुआ...

लिनक्स diff कमांड – एक परिचय

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम पर, diff कमांड दो फाइलों का विश्लेषण करती है और उन लाइनों को प्रिंट...

उबुण्टू लिनक्स 20.04 बीटा डाउनलोड करें

उबुण्टू लिनक्स 20.04 बीटा रिलीज अब डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध है। इस बीटा संस्करण के माध्यम...

उबुन्टू स्थापित कर लिया? अब आइये ये जाने की वो चीजें जो आपको उबुन्टू स्थापित करने के बाद करनी चाहिए|

  1. उबुन्टू अद्यतित करना
  2. फ्लैश, एमपी थ्री आदि का समर्थन स्थापित करना
  3. उबुन्टू की मुफ्त पुस्तकें डाउनलोड करना
  4. हिंदी अथवा अन्य भारतीय भाषाओं का समर्थन स्थापित करना
  5. उबुन्टू वन (Ubuntu One) का इस्तेमाल करना

१. उबुन्टू अद्यतित करना

उबुन्टू के सबसे नए संस्करण को स्थापित करने का ये मतलब नहीं है की आपके कंप्यूटर में सभी पैच स्थापित होंगे| विभिन्न पैकेजों के नए नए संस्करण जारी होते रहते हैं, जिनमे पिछले संस्करण की गड़बड़ियों को सुधारा गया होता है तथा नै सुविधाओं को जोड़ा गया होता है| अत: स्थापना के पश्चात् अपने उबुन्टू को अद्यतित जरूर कर लें. इसके लिए System > Administration > Update Manager में जाएँ फिर Check Update बटन पर क्लिक करके अपने उबुन्टू को अद्यतित करें|

२. फ्लैश, एमपी थ्री आदि का समर्थन स्थापित करना

ताज़ा ताज़ा स्थापित उबुन्टू में आप फ्लैश या एमपी थ्री फाइलें नहीं चला सकते हैं| इसके लिए उसमे इनका समर्थन स्थापित करना होता है| ऐसा करने के लिए Application > Ubuntu Software Center में जाएँ| फिर दायें कोने में दिए खोज बक्से में restricted लिखें| इतने में आपको एक सूची दिखाई देगी जिसमे Ubuntu Restricted Extras जैसा कुछ लिखा होगा| Ubuntu Restricted Extras में क्लिक करके उसे स्थापित कर लें| ध्यान रहे की इसमे कुछ समय लगता है अत: धैर्य रखें|

३. उबुन्टू की मुफ्त पुस्तकें डाउनलोड करना

उबुन्टू के लिए नए हैं? श्री रविशंकर श्रीवास्तव द्वारा हिन्दी में लिखी गई पुस्तक लिनक्स पॉकेट गाइड से आप आसानी से लिनक्स सीख सकते हैं| इसे आप यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं:
http://raviratlami.blogspot.com/2009/07/blog-post_23.html
अंग्रेजी में उबुन्टू मैनुअल यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं: http://ubuntu-manual.org/
अंग्रेजी में उबुन्टू पॉकेट गाइड एंड रिफरेन्स यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं: http://www.ubuntupocketguide.com/index_main.html

४. हिंदी अथवा अन्य भारतीय भाषाओं का समर्थन स्थापित करना

यदि आप उबुन्टूको हिंदी या किसी अन्य भाषा में उपयोग करना चाहते हैं तो उस भाषा का समर्थन आपको उबुन्टू में स्थापित करना होगा| इसके लिए System > Administration > Language Support में जाएँ|

अब Install/ Remove Languages बटन में‌ क्लिक करें| इससे आपको निम्न लिखित विंडो खुलेगी|

इसमे हिन्दी या जो भाषा आप स्थापित करना चाहते हों उसमें चिह्न लगाकर चुनें फिर Translations, Input Methods तथा Extra fonts को भी चिह्नित कर दें| अब Apply Changes में क्लिक करें| थोड़ा इंतजार करें, आपकी चुनी हुई भाषाएं स्थापित हो जाएंगी|

अब Text टैब में जाएं और Display numbers, dates and currency…. में हिन्दी चुन लें और Apply System-Wide… में‌ क्लिक कर दें| अब Languages टैब में आएं|

इसमें Keyboard input method system: में ibus चुनें|

एक बार सत्रांत करके पुन: सत्रारंभ करने पर परिवर्तन प्रभावी हो जाएंगे|

अब तंत्र > वरीयता > ibus वरीयता में जाएं | अब इनपुट विधि में जाएं|

यहां “कोई इनपुट विधि चुनें” में क्लिक करके हिन्दी या अपनी भाषा की इनपुट विधि चुन लें| उदाहरण के लिए मैंने यहां iTrans चुना है| इसके पश्चात् “जोड़ें” में‌ क्लिक करें|

“बंद करें” बटन पर क्लिक करके विंडो बंद करें|

जब भी आपको कोई हिन्दी प्रयोग करनी हो तो दांई ओर की alt बटन दबाएं| फिर टाइप करें| पहले जैसा अंग्रेजी में टाइप करने के लिए पुन: alt बटन दबाएं|

५. उबुन्टू वन (Ubuntu One) का इस्तेमाल करना

उबुन्टू वन, विंडोज़ के ड्राप बाक्स जैसी सेवा है, जिसमें प्रत्येक उबुन्टू उपयोगकर्ता को दो गीगाबाईट की मुफ्त आनलाइन भंडारण जगह मिलती है| इसमें $१० प्रतिमाह के भुगतान पर ५० गीगाबाईट तक का अपग्रेड उपलब्ध है| यदि आप उबुन्टू वन के लिए नए हैं तो आपको https://one.ubuntu.com/ पर जाकर पंजीकरण कराना होगा|

अब तंत्र > वरीयता > उबुन्टू वन में जाएं|

अब खाता टैब में जाकर खाता प्रबंध में क्लिक करें|

अब वेब ब्राउजर में आपको सत्रारंभ करना होगा(ईमेल पता तथा कूटशब्द डालकर)| यदि आपने पहले से ही सत्रारंभ कर दिया है तो आपके सामने यह पेज दिखाई देगा|

यहां Yes, Sign me in में क्लिक करें|

इस पेज में कम्प्यूटर का नाम भरें और Add this computer में क्लिक करें| अब वरीयता वाली विंडो में औजार टैब में जाकर “संयोजन करें” बटन में क्लिक करें|

अब आपके उबुन्टू वन फोल्डर जो कि घर फोल्डर के भीतर होता है में जो भी फाइलें रखी जाएंगी वो स्वत: ही आपके उबुन्टू वन खाते में अपलोड हो जाएंगी|

गूगल ने जूम एप पर प्रतिबंध लगाया

जहां तालाबंदी के बीच जूम एप घर से काम करने वाले विभिन्न कर्मचारियों के बीच लोकप्रिय हुआ...

लिनक्स diff कमांड – एक परिचय

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम पर, diff कमांड दो फाइलों का विश्लेषण करती है और उन लाइनों को प्रिंट करती है जो अलग-अलग होती...

उबुण्टू लिनक्स 20.04 बीटा डाउनलोड करें

उबुण्टू लिनक्स 20.04 बीटा रिलीज अब डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध है। इस बीटा संस्करण के माध्यम से विभिन्न उत्साही परीक्षक इसमें...

लिनक्स कमांड लाइन से इंटरनेट की गति कैसे नापें?

यह जानने के लिए कि हमारा इंटरनेट सेवाप्रदाता हमें उसी गति का इंटरनेट प्रदान कर रहा है जिसका उसने वचन दिया था...

माइक्रोसॉफ्ट नें विंडोज 10 के नए यूआई बदलावों का वीडियो जारी किया

माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज 10 ऑपरेटिंग सिस्टम ने इस सप्ताह की शुरुआत में एक बिलियन सक्रिय उपयोगकर्ताओं को पार किया था, और कंपनी...

More Articles Like This