इंटरनेट एक्सप्लोरर में पोर्न सामग्री कैसे रोकें

मैंने अपनी पिछली प्रविष्टि ( विंडोज़ ७ में अभिभावकीय नियंत्रण करें) में आपको बताया था कि आप अपने कम्प्यूटर पर बच्चों के काम करने के समय और उनके क्रियाकलापों पर किस प्रकार नियंत्रण कर सकते हैं। आज हम यह जानेंगे कि हम इंटरनेट एक्सप्लोरर में पोर्न अथवा अन्य आपत्तिजनक जाल स्थलों को कैसे रोक सकते हैं।

सर्वप्रथम स्टार्ट > कंट्रोल पैनल में जाकर इंटरनेट आप्शन्स के प्रतीक चिन्ह पर क्लिक करके उसे खोलें।

आप यह कार्य इंटरनेट एक्सप्लोरर के टूल्स मेन्यू में जाकर इंटरनेट आप्शन्स में क्लिक करके भी कर सकते हैं।

इंटरनेट आप्शन्स के डायलॉग बॉक्स में “कंटेन्ट” टैब में जाएं।

यहां आपको “कंटेन्ट एडवाइज़र” के अंतर्गत “इनेबल” नाम का बटन मिलेगा। इसमें क्लिक करें। इससे आपको डायलॉग बाक्स नजर आएगा।

जैसा कि रेटिंग टैब में आप देख सकते हैं कि इसमें आप विभिन्न प्रकार की सामग्री जैसे हिंसा, भाषा आदि का स्तर निश्चित कर सकते हैं।

यदि आप किसी विशेष जालस्थल को प्रतिबंधित करना चाहते हैं अथवा प्रतिबंध हटाना चाहते हैं तो “एप्रूव्ड साइट्स” वाली टैब में जाकर आप ऐसा कर सकते हैं। इसके लिए आपको उस जाल स्थल का पता लिखना होगा फिर यदि आप प्रतिबंध लगाना चाहें तो “नेवर” बटन पर क्लिक कर सकते हैं और यदि प्रतिबंध हटाना चाहें तो “आलवेज” बटन पर क्लिक कर सकते हैं।

इस सबके बाद आप एप्लाई तथा ओके बटन पर क्लिक करके बाहर आ सकते हैं। परंतु जैसे ही आप बाहर आएंगे आपसे कूटशब्द/पासवर्ड बताने को कहा जाएगा ताकि जब कोई अन्य व्यक्ति इस प्रकार की सामग्री देखने का प्रयत्न करे तो उसे कूटशब्द के जरिए रोका जा सके। आप अपना कूटशब्द भरिए और ओके में क्लिक कीजिए।

अब जब भी आप किसी “ऐसी वैसे” जालस्थल को खोलने का प्रयत्न करेंगे तो आपको कुछ ऐसा दिखेगा।

जब तक सही कूटशब्द नही भरा जाएगा जालपृष्ठ नही खुलेगा।

कृपया ध्यान दें: यह तंत्र केवल इंटरनेट एक्सप्लोरर पर ही कार्य करता है। यदि आपके कम्प्यूटर में कोई दूसरा ब्राउज़र जैसे कि फायर फॉक्स आदि भी स्थापि है तो उसमें यह कार्य नही करेगा। यानि कि प्रतिबंध लगाने के बावजूद यह संभव है कि उपयोगकर्ता दूसरे ब्राउज़र का प्रयोग करके वो सामग्री देख सकता है। परंतु इसका भी हल है। अभिभावकीय नियंत्रण के जरिए आप अपने बच्चों के लिए एक अन्य खाता बनाकर उसमें दूसरे ब्राउज़रों को अक्षम कर कर सकते हैं जिससे वो केवल इंटरनेट एक्सप्लोरर का ही उपयोग कर पाएंगे।

इस प्रकार हम देखते हैं कि किसी अन्य अनुप्रयोग को स्थापित किए बगैर हम अपने विंडोज़ आधारित कम्प्यूटर पर अभिभावकीय नियंत्रण कर सकते हैं।

What you think about this article?

You may also like...

3 Responses

  1. aaliya says:

    मेरे चार नये ब्लॉग बनए थे , अभी मैंने उन्हें ठीक ही किआ था और कुछ पोस्ट की कुछ दिन पहले , लेकिन अब हो ये रहा है की जब मैं अपने ब्लॉग से अपना अगला ब्लॉग देखना चाहती हु तो मेरा ब्लॉग न आकर के कोई और ब्लॉग दिखाई देते है, जितनी बार नेक्स्ट किआ किसी और के ही नए नए ब्लॉग दिखाई दिए,अब मे अपने ब्लॉग पर पोस्ट भी नहीं लिख सकती हु, कुंकी वो साइन इन ही नहीं होता , हो भी जाये तो मेरे ब्लॉग के ऊपर कोने में वो वह अकाउंट दिखाता है जिस पर मेरा ब्लॉग है ही नहीं ,(मतलब मेरा दूसरा जी मेल अकाउंट दिखाता है ) कई बार पासवर्ड बदला पर कुछ नहीं हुआ , प्लीज़ मदद करें

  2. aalia says:

    mera blog dikhta to hai, signin karne se lekin jab view blog karke blog dekho to uske corner me likha hota hai creat a blog , sign in.. aisa kyu , iska kya solution hai ??

  3. अंकुर गुप्ता says:

    आलिया जी, कृपया अपने ब्लाग का यूआरएल एवं समस्या के स्क्रीनशॉट मुझे admin (at) antarjaal (dot) in पर ईमेल करें। एक सुझाव है। कृपया किसी अन्य ब्राउजर में भी अपना ब्लाग चेक करें।

Leave a Reply to aaliya Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA Image

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>